काश ऐसा होता…..

कुछ ख्वाबों को तकीए पर अकेला छोड आया हुँ,
मुस्कुराते हुए स्वार्थ को बेडीयों में जकड आया हुँ
बंगला गाडी के बुलबुलें यूं ही उडा आया हुँ,
ऐशो आराम की कश्ती भी गंगा में बहा आया हुँ,
आसमानी छत के तले एक फलक ढुंढने आया हुँ ।

बेनाम, बेकश, बेखुदी में गुम हो गया है जो कहीं,
सडकों पर हर पल रेंगती हुई ज़िन्दगी में,
झूठ के साये मे हरी-भरी फूलती-फलती ज़िन्दगी में,
हर सफलता पर अपना नाम थोपने को बेकरार,
हर चौराहे पर हरी बत्ती का इंतज़ार करती हुई ।

कोशिश मैंने भी की,
कुछ उस ज़िन्दगी के रंग-रुप में ढलने की,
थोडे़ दिनों सफल हुआ,
बाद में आदत पड गई खाली हाथ मलने की ।

अब सब कहते है,
फलक ढुंढने का वो अच्छा है बहाना,
हर थके हारे भगोडे की ज़िन्दगी का है ये किस्सा पुराना ।

तुम भी उसी खेत की मूली हो,
ज़िन्दगी से ही भाग रहे हो ।
दिल कहता है ज़िन्दगी से नहीं,
भाग रहा हुँ ज़िन्दगी के संग,
देखना चाहता हुँ उसके कुछ अनछुए रंग ।

तुम्हारी दुनिया तुम्हें भी हो खुब मुबारक,
बस ख्वाबों को ज़रा धीमे भगाना,
क्या पता साँसें कब जाए थक ।
फिर एहसास कुछ ऐसा न हो,
कि ज़िन्दगी के दिन ही पड गए कुछ कम,
बस दो पल की रोटी ही जुटाते रह गए हम ।
घरवालों के लिए, बीवी-बच्चों के लिए, रिश्तेदारों के लिए ।

Published in: on फ़रवरी 9, 2007 at 3:09 अपराह्न  Comments (6)  

The URI to TrackBack this entry is: https://pratibimbnotes.wordpress.com/2007/02/09/%e0%a4%95%e0%a4%be%e0%a4%b6-%e0%a4%90%e0%a4%b8%e0%a4%be-%e0%a4%b9%e0%a5%8b%e0%a4%a4%e0%a4%be/trackback/

RSS feed for comments on this post.

6 टिप्पणियाँटिप्पणी करे

  1. its reallt ery nice.

  2. can u help 4 writing blog in hindi if yes plz reply me on my blog hemjyo.wordpress.com

  3. Shomu
    U R a rockstar man. Keep on writing, U R touching so many hearts buddy.

  4. u r great frd,u r just gr8

  5. आज से एक साल पहले मैने आपको एक comment किया था …….. हिन्दी कैसे लिखूँ ? आपकी मदद मांगी… आपने मुझे जवाब भी दिया. आज आपके उसी जवाब के कारण मेरा ब्लोग 1 साल को हो गया.
    आपके उस मदद उस एक लिंक के कारण मै आज से एक साल पहले हिन्दी ब्लोग शुरु कर पाई थी । इस के लिये आपको बहुत बहुत शुक्रिया ।
    आपने मुझे लिखा था

    Hey Hem, thnx. U can also easily write in hindi. Check out this link…

    http://www.kaulonline.com/uninagari/
    U can type in hindi there and copy-paste the whole thing here.

    somen

    http://hemjyo.wordpress.com/2007/02/19/namste-duniya/

  6. […] काश ऐसा होता….. ये मेरी उन दो comment के लिंक हैं जो मैने सबसे पहले की http://hemjyo.wordpress.com/2007/02/19/namste-duniya/ http://hemjyotsana.wordpress.com/2007/03/09/man-vijay-karne-chalaaऔर ये उनके जिन पर उन दो के जवाब आये । […]


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: